Press Release on inaugural ceremony of Girls Hostel, Central University, Haryana.

 

1.gif

Public Relations Section                                                                                                     Phone: 03592-202410

                                                                                                                                                 Fax: 03592- 202742

 

RAJ BHAVAN

GANGTOK, SIKKIM

 

 

प्रेस विज्ञप्ति

राजभवन :दिनांक :27/12/2022

दिनांक 26-12-2022   हरियाणा  केंद्रीय विश्वविद्यालय में नवनिर्मित "कल्पना चावला छात्रावास" का उद्घाटन समारोह का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन सिक्किम के माननीय राज्यपाल श्री गंगा प्रसाद ने किया। 

 

विश्वविद्यालय की छात्राओं को नए छात्रावास के रूप में एक और सुविधा  उपलब्ध कराने की  प्रशंसा करते हुए माननीय राज्यपाल ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर टंकेश्वर कुमार व उनकी टीम को बधाई दी है। उन्होंने विश्विद्यालय को अपने आप में लघु भारत का आईना बताते हुए आशा जतायी है कि इस छात्रावास के बनने से विश्वविद्यालय में छात्राओं की संख्या तो बढ़ेगी ही साथ ही महिलाओं को शिक्षित व सशक्त बनाने की दिशा में विश्वविद्यालय और अधिक ऊर्जा से आगे बढ़ेगा। 

 छात्रों को संबोधित करते हुए माननीय राज्यपाल ने कहा कि माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत विकास के नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि जब दुनिया भारत के गौरव व उसके महत्व को समझ रही है ,युवा शक्ति को भारत की इस बढ़ती शक्ति को महसूस करने की आवश्यकता है। भारत के जी -20 प्रेसीडेंसी पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वर्ष 2023 देश के प्रत्येक व्यक्ति के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। हमें अपनी उत्तरदायित्वों को समझते हुए कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ते रहने की जरूरत है। 

माननीय राज्यपाल ने सशक्त महिला सशक्त देश! का नारा देते हुए कहा कि 21वीं सदी में भारत को विश्व गुरु बनने के लिए महिला शिक्षा व महिला शक्ति की सबसे अधिक जरूरत है । भारत को सशक्त बनाने के लिए देश में महिलाओं को सशक्त बनाना जरूरी है। 

 जानकारी प्राप्त अनुसार केंद्रीय विश्वविद्यालय हरियाणा में इस समय देश के लगभग 25 राज्यों से 75 पाठ्यक्रमों के माध्यम से 5000 से अधिक छात्र-छात्राएं  शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।